Skip to main content

Posts

Showing posts from November, 2019

किमर्थम् का अर्थ (Kimartham Ka Arth) meaning of Kimartham

संस्कृत भाषा में किमर्थं का अर्थ होता है किसलिए अगर कोई व्यक्ति किसी से पूछता है कि तुम किस काम लिए वहां जा रहे हो, तो उसे हम संस्कृत में बोलेंगे किमर्थं कार्यम्
In Sanskrit language meaning of Kimartham (किमर्थं) is For What
आप किस कारण से वहां जा रहे हैं = भवतः किमर्थं तत्र गच्छति
For What Reason Your are going there = Bhavatah kimartham tatra gachchhati


तव का अर्थ (Tav Ka Arth) menaing of Tav in Sanskrit

संस्कृत भाषा में तव का अर्थ होता है तुम्हारा अगर कोई व्यक्ति किसी से पूछता है कि तुम्हारा नाम क्या है, तो उसे हम संस्कृत में बोलेंगे तव नाम किम् अस्ति
यह हमेशा याद रखें कि तव का उपयोग अपने से कम उम्र वाले व्यक्ति के साथ करते हैं अगर कोई आपसे उम्र में अधिक है तो आप भवतः या भवत्याः का उपयोग करे
In Sanskrit language meaning of Tav (तव) is Your, always remember that Tav it is used when the person is younger than you. If a person is older than you then you should use Bhavatah or Bhavatyaha
उदाहरण (Examples)तुम्हारा नाम क्या है? = तव नाम किम् अस्ति ?
What is Your name? = Tav Nam Kim Asti?

एषः कः का अर्थ (Eshaha Kaha Ka Arth) meaning of Eshaha Kaha in Sanskrit

संस्कृत भाषा में एषः कः का अर्थ होता है यह कौन है , अगर कोई व्यक्ति (पुलिंग) है और वह सामने हो तो आप उसे इस तरह से उच्चारण करेंगे एषः कः? = यह कौन है?
Ans: एषः नितेशः = यह नितेश है
In Sanskrit language, the meaning of Eshaha(एषः) is This and meaning of कः is Who?, It’s used if masculine gender is closer and you want to point that person example is
Who is This? = Eshaha Kaha (एषः कः)?
This is Nitesh = Eshaha Niteshha (एषः नितेशः)

कः का अर्थ (Kaha Ka Arth) meaning of Kaha in Sanskrit

संस्कृत भाषा में कः का अर्थ होता है कौन, अगर कोई व्यक्ति (पुलिंग) है तो आप उसे इस तरह से उच्चारण करेंगे एषः कः? = यह कौन है?
Ans: एषः नितेशः = यह नितेश है
In Sanskrit language meaning of Kaha( कः) is कौन , It’s used if gender is masculine.
Who is This? = Eshaha Kaha (एषः कः)?
This is Nitesh = Eshaha Niteshha (एषः नितेशः)

यावत् और तावत् का अर्थ (Yavat aur Tavat Ka Arth) meaning of Yavat and Tavat in Sanskrit

संस्कृत भाषा में यावत् का अर्थ होता है जितना और तावत् का अर्थ होता है उतना, इसका अधिक उपयोग होता है जब हम किसी का तुलना करते हैं तो, संस्कृत भाषा में यावत् और तावत् का अर्थ जब तक और तब तक भी होता है- उदाहरण देखें
यावत् और तावत् का उदाहरणयावत् कालम् = जब तक
तावत् कालम् = तब तक

यावत् सुधीर भोजनं न करोति तावत् नितेशः अपि भोजनं न करोति = जितना सुधीर खाना नहीं खाता उतना नितेश भी खाना नहीं खाता है
यावत्कालम् सुधीर भोजनं न करोति तावत्कालम् नितेशः अपि भोजनं न करोति = जब तक सुधीर खाना नहीं खाता तब तक नितेश भी खाना नहीं खाता है
In Sanskrit language meaning of Yavat and Tavat is as long … until

Learn Sanskrit – Video Class 2 – अहम् ,भवान् , भवती (Aham, Bhavan, Bhavati)

अहम् = मैं ( Aham = I ) संस्कृत भाषा में अहम् का अर्थ होता है मैं यह पुलिंग या स्त्रीलिंग दोनों के लिए उपयोग होता है जैसे
In Samskrit language meaning of Aham is I, it’s used in all gender – see examples

मैं नितेश हूं = अहम् नितेशः अस्मि
मैं रागिनि हूं = अहम् रागिनि अस्मि

Aham Niteshha Asmi = I am Nitesh [M]
Aham Ragini Asmi = I am Ragini [F]
भवान् = आप (Bhavan = You) संस्कृत भाषा में भवान् का अर्थ होता है आप यह पुलिंग यानि पुरुषों के लिए उपयोग होता है जैसे
In Samskrit language meaning of Bhavan is You, it’s used in masculine gender with respect – see examples

आपकौन हो ? = भवान्कः
Bhavan Kaha – Who are you? [M]
भवती = आप (Bhavati = You) संस्कृत भाषा में भवती का अर्थ होता है आप यह स्त्रीलिंग यानि स्त्रीओ के लिए उपयोग होता है जैसे
In Samskrit language meaning of Bhavati is You, it’s used in feminine gender with respect – see examples

आप कौन हो ? = भवती का
Bhavati Ka ? = Who are you? [F]
मम = मेरा (Mam = My) संस्कृत भाषा में मम् का अर्थ होता है मेरा यह पुलिंग या स्त्रीलिंग दोनों के लिए …

तत् किम् का अर्थ (Tat Kim Ka Arth) – Meaning of Tat Kim in Sanskrit

संस्कृत भाषा में तत् का अर्थ होता है वह जो दूर वस्तु है संस्कृत भाषा में तत् किसी दूर नपुंसक चीजों पर होता है, और किम् का अर्थ होता है क्या संस्कृत भाषा में
तत् किम् ? = वह क्या है ? (What is That?) उदाहरण (Examples) तत् किम् ? = वह क्या है ?
तत् फलम् = वह फल है
तत् किम् ? = वह क्या है ?
तत् जलम् = वह जल है

Learn Sanskrit - Video Class 1 - भवतः, भवत्याः (Bhavatah, Bhavatyaha)

मम = मेरा (Mam = My)मम नाम सुधीर  = मेरा नाम सुधीर है (पूलिंग)
मम नाम गीता  = मेरा नाम गीता है (स्त्रीलिंग)

भवतः , भवत्याः = आपका (Bhavatah, Bhavatyaha = Your) संस्कृत भाषा में भवतः और भवत्याः का अर्थ होता है आपका

भवतः पूलिंग के लिए उच्चारण होता है (पुरुषों के लिए) और भवत्याः स्त्रीलिंग के लिए उच्चारण होता है (स्त्री के लिए)

Bhavatah used in masculine gender and Bhavatyaha used in feminine gender, both has same meaning Your
उदाहरण (Examples) भवतः नाम किम् ? = आपका नाम क्या है ? (पूलिंग)
भवत्याः नाम किम् ? = आपका नाम क्या है ? (स्त्रीलिंग)
Bhavatah Nam Kim ? = What is Your Name ? (Masculine)
Bhavatayaha Nam Kim ? = What is Your Name? (Feminine)

Ans
मम नाम नितेशः = मेरा नाम नितेश है (पूलिंग)
मम नाम प्रिया = मेरा नाम प्रिया है (स्त्रीलिंग)
Mam Nam Niteshh = My name is Nitesh (Masculine)
Mam Nam Priya = My name is Priya (Feminine)
सः – एषः = वह – यह (Saha – Eshaha = That – This ) संस्कृत भाषा में सः का अर्थ होता है वह जो दूर है (पुलिंग) और एषः का अर्थ होता है यह जो समीप है (पुलिंग)
In Samskrit lan…